राष्ट्रीय तैराकी में पदक के लिए 14 तैराक लगाएंगे गोता

राष्ट्रीय तैराकी में पदक के लिए 14 तैराक लगाएंगे गोता

National Sub Junior and Junior Swimming,

Reference: http://www.khelratna.org/noida/noida-news/

राष्ट्रीय सब जूनियर और जूनियर तैराकी में जनपद के 14 तैराक दमखम दिखाएंगे। इसमें प्रदेश तैराकी प्रतियोगिता में रिकॉर्ड ध्वस्त करने वाली तीन जलपरियां भी शामिल हैं। इनसे प्रतियोगिता में पदक जीतने की पूरी उम्मीद है। वहीं अन्य तैराकों से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही है। दोनों प्रतियोगिता पुणे में खेली जाएंगी। इन तैराकों का चयन 7 जून को किया गया.
जूनियर तैराकी प्रतियोगिता का आयोजन 3 से 6 जुलाई तक होगा। सब जूनियर तैराकी प्रतियोगिता 28 से 30 जून तक खेली जाएगी। सब जूनियर वर्ग में व्योम शर्मा, आर्या सिंह, स्नेहा पटनायक, कबीर बावा, सुहानी जैन, प्रिया पंजवानी, सरन्या सिंह प्रदेश का प्रतिनिधत्व करेंगे। जूनियर वर्ग में प्रदेश की टीम से आलिया सिंह, नव्या सिंघल, दिशा भंडारी, अग्रता सिरोही, तेजल वर्मा, लक्ष्य वर्मा और साहिल पंजवानी का चयन किया गया है। जिला तैराकी संघ के सचिव सुरेश देशवाल ने बताया कि इस बार राष्ट्रीय तैराकी प्रतियोगिता में प्रदेश का प्रतिनिधित्व करने वाले तैराकों से सबसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। आलिया, नव्या और सुहानी से पदक जीतने की पूरी उम्मीद है, जबकि अन्य तैराक भी उलटफेर कर पदक जीत सकते हैं।

आलिया, सुहानी और नव्या इसलिए हैं पदक की दावेदार
तीनों तैराकों का राज्य प्रतियोगिता में उम्दा प्रदर्शन प्रदर्शन रहा है. मेरठ और लखनऊ में 10 दिन पहले हुए राज्य सब जूनियर और जूनियर तैराकी में आलिया, नव्या और सुहानी ने शानदार प्रदर्शन किया था. आलिया सिंह ने 50 मीटर ब्रेस्ट स्ट्रोक, 200 मीटर व्यक्तिगत मेडले, 100 और 200 मीटर ब्रेस्ट स्ट्रोक और 50 मीटर बटरफ्लाई में नए रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक झटका.

वहीं नव्या सिंघल ने 100, 200 और 400 मीटर फ्री स्टाइल, 200 मीटर बटरफ्लाई और 400 मीटर व्यक्तिगत मेडले में पुराने रिकॉर्ड ध्वस्त कर सोना अपने नाम किया. इनके अलावा दिशा भंडारी ने पांच व्यक्तिगत स्वर्ण पदक अपने नाम किए थे. सुहानी जैन ने प्रदेश सब जूनियर तैराकी प्रतियोगिता में 4 नए रिकॉर्ड दर्ज कर तैराकी में नया मुकाम हासिल किया.

उन्होंने 17 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर 50 मीटर बटरफ्लाई का स्वर्ण पदक अपने नाम किया था. 50 मीटर बैक स्ट्रोक में भी पुराना रिकॉर्ड ध्वस्त कर स्वर्ण पदक झटका. 100 मीटर फ्री स्टाइल और रिले स्पर्धा में रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता . इसलिए इन तैराकों से पदक जीतने की पूरी उम्मीद है. अन्य तैराकों के प्रदर्शन को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि वह भी प्रतियोगिता में उलटफेर कर सकते हैं.

ABOUT AUTHOR

Rohit is an ardent reader and sports enthusiast who loves to write in his style. Along with his passion for writing, he loves travelling new places and cultures.