यंग अचीवर : 15 वर्षीय हर्ष गुप्ता ने ताइक्वांडो में लगाया पदकों का शतक

यंग अचीवर : 15 वर्षीय हर्ष गुप्ता ने ताइक्वांडो में लगाया पदकों का शतक

Harsh Gupta scored a century in Taekwondo

Reference: http://www.jagran.com/uttar-pradesh/noida-16301420.html

हर्ष गुप्ता की उम्र यूं तो 15 साल है, लेकिन इतनी कम उम्र में उन्होंने जो मुकाम हासिल कर लिया है वह सुनकर आप चौंक जाएंगे। ताइक्वांडो खिलाड़ी हर्ष की झोली में कुल 110 पदक हैं, जिसमें 44 तो स्वर्ण ही हैं। ये पदक उन्होंने राज्य स्तरीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में झटके हैं।

हर्ष गुप्ता मूल रूप से चौड़ा गांव के रहने वाले हैं। वह रॉकवुड सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 11वीं कक्षा के छात्र हैं। हर्ष के पिता मनोज गुप्ता व्यवसायी हैं। वहीं मां प्रीती गुप्ता हाउस वाइफ हैं। हर्ष ने करीब पांच साल पहले ताइक्वांडो की प्रैक्टिस शुरू की थी। खेल के प्रति गहरे रुझान को देखते हुए घरवालों ने प्रोफेशनल कोच से प्रशिक्षण दिलवाने का निर्णय लिया। प्रशिक्षण के साथ-साथ हर्ष के खेल में और निखार आने लगा। उसके बाद स्कूल व जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं से पदक का जो सिलसिला शुरू हुआ वह थमा नहीं। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता हो या राष्ट्रीय, हर्ष ने हर जगह अपना लोहा मनवाया। पिछले दिनों थाईलैंड में आयोजित अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में भी हर्ष ने स्वर्ण पदक झटककर सबको चौंका दिया।

हर दिन चार घंटे का अभ्यास :

हर्ष गुप्ता ने इतनी कम उम्र में जो उपलब्धियां हासिल की हैं, उसके पीछे कड़ी मेहनत है। वह हर दिन तीन से चार घंटे पसीना बहाते हैं। कोच सुमित चक्रवर्ती से ताइक्वांडो की बारीकियां सीख रहे हैं।

स्टेट चैंपियनशिप में दिखाएंगे दमखम : हर्ष ने दो जुलाई को नोएडा स्टेडियम में आयोजित डिस्ट्रिक्ट चैंपियनशिप में भी शानदार प्रदर्शन जारी रखा और स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इसके साथ ही छह जुलाई से आईआईटी, कानपुर में शुरू हो रहे स्टेट ताइक्वांडो चैंपियनशिप में अपना स्थान पक्का कर लिया।

उपलब्धियां :

– 44 स्वर्ण, 37 रजत और 29 कांस्य पदक हैं हर्ष की झोली में

– मई 2017 में थाईलैंड में हुई अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक झटका

– मई में हुई अल्टीमेट ताइक्वांडो चैंपियनशिप में बेस्ट फाइटर का अवार्ड अपने नाम किया

– फरवरी में दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में हुई ओपन नेशनल ताइक्वांडो चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक झटका

– जनवरी में अलीगढ़ में हुई स्टेट चैंपियनशिप में कांस्य पदक झटका

– दिसंबर 2016 में दिसंबर में धर्मशाला में हुई ओपन नेशनल ताइक्वांडो चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया

ABOUT AUTHOR

Rohit is an ardent reader and sports enthusiast who loves to write in his style. Along with his passion for writing, he loves travelling new places and cultures.