पूर्वांचल के जिलों में फुटबॉल प्रतिभाओं को तराशेगा यूपीएससी

पूर्वांचल के जिलों में फुटबॉल प्रतिभाओं को तराशेगा यूपीएससी

UPSC will track football talent in districts of Purvanchal

Reference: http://www.khelratna.org/upsc-search-football-talent-in-western-region-of-up/

प्रदेश के पूर्वांचल के जिलों में उत्तर प्रदेश सॉकर कन्फेडरेशन (यूपीएससी ) फुटबॉल प्रतिभाओं को विकसित करेगा. इसके लिए पहली बार बनारस में 15 दिनों का विशेष समर कैंप लगाया गया. समर कैंप की खास बात यह रही की इससे ओलम्पियन और पूर्व अंतर्राष्ट्रीय रेफरी एसएस हकीम भी मुख्य अतिथि के रूम में बच्चों से रूबरू हुए. उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल के अनुभव साझा किये. साथ ही यूनियन ऑफ़ यूरोपियन फुटबॉल एसोसिएशन (यूईएफ़ए) के ए लाइसेंस कोच पाउलो पेड्रो ने भी बच्चों को खेल के गुर बताये.
समर कैंप में 98 खिलाडियों ने भाग लिया. इन्हे 15 दिनों तक फुटबॉल की बारीकियां बताई गई. 28 मई से शुरू हुए कैंप में कई पूर्व राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय फुटबॉलरों से बच्चे रूबरू हुए. इस विशेष कैंप में अतिथि प्रशिक्षक पाउलो पेड्रो ने भी दो दिनों तक बच्चों को प्रशिक्षित किया.

यूपीएससी विभिन्न सरकारी और निजी स्कूलों में जाकर इस तरह के शिविर आयोजित करेगा. ताकि फुटबॉल प्रतिभाओं को तैयार कर सही मुकाम तक पहुंचाया जा सके. आर्थिक रूप से कमजोर प्रतिभाओं को निशुल्क प्रशिक्षण की व्यवस्था होगी. साथ ही अन्य फुटबॉलरों को नो प्रॉफिट व्यवस्था के अनुसार प्रशिक्षण कराया जाएगा. पूर्व भारतीय फुटबॉलर मुश्ताक अली को यूपीसीए का मुख्य प्रशिक्षक बनाया गया है. खिलाडियों को तराशने की जिम्मेदारी इनकी होगी. इनके साथ कई अन्य प्रशिक्षक काम करेंगे.
यूपीएससी से जुड़े धीरेन्द्र कुमार ने बताया कि पूर्वांचल के जिलों की फुटबॉल प्रतिभाओं में बेहद संभावनाएं हैं. यहाँ के खिलाडियों की क्षमता को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि उन्हें सही दिशा में गाइडेंस दी गयी तो वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक भी पहुँच सकते हैं. इसी को देखते हुए यूपीएससी बनारस और आसपास के जिलों के स्कूलों में विशेष फुटबॉल कैंप लगाएगा. समर कैंप में यूपीएससी के सचिव सतेंद्र सिंह, कोषाध्यक्ष निलेश सिंह, धर्मेंद्र सिंह ने भी सक्रिय भूमिका निभाई.

ABOUT AUTHOR