गोलकीपर गई परीक्षा देने हरियाणा ने यूपी को दागे 19 गोल

गोलकीपर गई परीक्षा देने हरियाणा ने यूपी को दागे 19 गोल

UP womens football team

Reference: http://www.khelratna.org/up-womens-team-beaten-by-haryana-19-0-in-national-championship/

मुश्किल में यूपी महिला फुटबॉल टीम
-सुबह हुए मैच के बाद टीम की महिला खिलाड़ी रुम से बाहर नहीं निकलीं
-कइयों ने दोपहर का खाना तक नहीं खाया, टीम के लिए अगले दो मुकाबले अहम
फगवाड़ा/नोएडा। खेलरत्न, सं : (1:43 AM)

गोलकीपर का परीक्षा देने जाना उत्तर प्रदेश महिला फुटबॉल टीम को महंगा पड़ गया. राष्ट्रीय महिला फुटबॉल प्रतियोगिता के पहले मुकाबले ही गुरुवार को प्रदेश की टीम को हरियाणा ने 19-0 से करारी शिकस्त दी. पंजाब के फगवाड़ा में खेली जा रही प्रतियोगिता में प्रदेश को अब दो मुकाबले और खेलने हैं. प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के लिए यूपी को अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा से जीत हासिल करनी होगी. महिला फुटबॉल इतिहास में यूपी की यह सबसे बड़ी हार मानी जा रही है.

बरेली की अनिता कुमारी टीम की मुख्य गोलकीपर थीं, लेकिन स्नातक की परीक्षा के कारण उन्हें टीम को छोड़कर जाना पड़ा. रिजर्व गोलकीपर श्रद्धा को मैच में मौका दिया गया. उन्होंने इस मुकाबले में खुद को साबित भी किया. पहले 20 मिनट तक हरियाणा एक भी गोल नहीं कर पाया. मैच के दौरान एक गोल बचाने के चक्कर में श्रद्धा की गर्दन में चोट लग गई. इस महत्वपूर्ण मुकाबले को देखते हुए उत्तर प्रदेश टीम प्रबंधन इस खिलाड़ी को ग्राउंड से बाहर नहीं कर सकता था. ऐसे में श्रद्धा की गोलपोस्ट संभालने की जिम्मेदारी जारी रखी गई, क्योंकि तीसरा गोलकीपर टीम के पास नहीं था. 21वें मिनट में हरियाणा की खिलाड़ी द्वारा 30 मीटर दूर से मारी गई गेंद गोलपोस्ट के जाल में समा गई. गोलकीपर के घायल होने का पूरा फायदा प्रतिद्वंदी खिलाड़ियों ने उठाया और दूर से ही गोलपोस्ट में शॉट मारने शुरू कर दिए. मध्यांतर से पहले हरियाणा 8 गोल ठोंक चुकी थी. मध्यांतर के बाद टीम ने 11 गोल दागे. इतने बड़े अंतर से हार के कारण प्रदेश की महिला खिलाड़ियों का मनोबल गिरा हुआ है. बीते वर्ष हुई राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता में सोनल सैनी मुख्य गोलकीपर थीं, लेकिन वह भी परीक्षा के चलते टीम का हिस्सा नहीं बन पाईं.

रूम से बाहर नहीं निकली प्रदेश की महिला खिलाड़ी
सुबह हुए इस मुकाबले में हार के बाद प्रदेश टीम की महिला खिलाड़ी एक रुम में जाकर बैठ गईं. कई खिलाड़ियों ने दोपहर का भोजन तक नहीं किया. टीम के मुख्य प्रशिक्षक मुकेश सबरवाल और वाजिल अली के समझाने के बाद शाम को खिलाड़ियों ने खाना खाया और कमरे से बाहर निकलीं. दोनों प्रशिक्षकों ने टीम का मनोबल बढ़ाया और अगले दो मैचों में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद जताई. उत्तर प्रदेश टीम प्रबंधन एक और गोलकीपर बुलाने का प्रयास कर रहा है ताकि बाकी के मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया जा सके. वाजिद अली ने बताया कि टीम 20 मिनट तक अच्छा खेल रही थी, लेकिन गोलकीपर को चोट लगने के बाद स्थिति एकाएक बदल गई. हरियाणा एक मजबूत टीम है, लेकिन इतने बड़े अंतर से हार की उम्मीद हमें कभी नहीं थी.

ABOUT AUTHOR