एनसीपीई की दिव्या ने एशियाई कुश्ती में रजत पदक झटका

एनसीपीई की दिव्या ने एशियाई कुश्ती में रजत पदक झटका

Reference: http://www.livehindustan.com/news/noida/article1-noida-colleges-divya-bag-silver-in-asian-wrestling-championship-827433.html

नोएडा कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन (एनसीपीई ) की छात्रा दिव्या काकरन ने दिल्ली में 12 मई को समाप्त हुई एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता में रजत पदक अपने नाम किया। उन्होंने इस प्रतियोगिता के 69 किलोभार वर्ग में भाग लिया। दिव्या अपनी पहली एशियाई सीनियर कुश्ती प्रतियोगिता में पदक जीतने में कामयाब रहीं। एनसीपीई प्रबंधन उनके सम्मान में कार्यक्रम का आयोजन करेगा।

एनसीपीई से बीपीई का कोर्स कर रही दिव्या काकरान को जापान की महिला पहलवान सारा दोशो ने हराया। दिव्या का ट्रायल के बाद इस प्रतियोगिता में चयन किया गया था, क्योंकि उन्होंने राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता में पदक नहीं जीता था। उन्होंने एशियाई कुश्ती में रजत पदक जीतकर अपनी काबिलियत एक बार फिर साबित कर दी। दिव्या ने कहा कि उन्हें पदक जीतने की उम्मीद थी। इसके लिए कड़ी मेहनत की थी। एनसीपीई के चेयरमैन सुशील राजपूत ने बताया कि दिव्या ने शानदार प्रदर्शन कर हमें गौरवान्वित किया है।

प्रतिदिन 6 घंटे करती हैं अभ्यास

दिव्या काकरन प्रतिदिन कम से कम छह घंटे अभ्यास करती हैं। शाकाहारी दिव्या तीन लीटर दूध का सेवन रोजाना करती हैं। इसके अलावा दो किलो फल, डेढ़ लीटर फलों का जूस, 100 बादाम, 100 ग्राम घी आदि का सेवन दिनचर्या में शामिल है। सुबह के समय ज्यादातर ध्यान फिटनेस पर होता है। शाम को तकनीक और कुश्ती का अभ्यास करती हैं।

जूनियर कुश्ती में शानदार प्रदर्शन

दिव्या ने सब जूनियर और जूनियर वर्ग की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में शानदार प्रदर्शन किया है। सब जूनियर एशियाई कुश्ती में इस पहलवान ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। बीते वर्ष बुल्गारिया में हुई सीनियर अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में कांस्य, जूनियर एशियाई कुश्ती में कांस्य, सहित कई प्रतियोगिता में पदक झटके हैं। चार बार भारत केसरी का खिताब अपने नाम किया। इससे पहले राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में दिव्या 10 स्वर्ण, 2-2 रजत और कांस्य जीत चुकी हैं।

दादी के त्याग से बैडमिंटन का चैंपियन बना नीर

नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता

राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर की कई प्रतियोगिताओं में जीत दर्ज कर चुके दुर्रई गांव के नीर नेहवाल की सफलता के पीछे उनकी 70 वर्षीय दादी कमला देवी का त्याग है। नीर ने रविवार को समाप्त हुए योजेम्स गौतमबुद्धनगर-गाजियाबाद बैडमिंटन चैंपियनशिप के चार वर्गों में भी खिताबी जीत हासिल की।

नीर नेहवाल पिछले एक साल से अक्षरधाम की एक बैडमिंटन एकेडमी में खेल का गुर सीख रहे हैं। पिता जितेंद्र किसान हैं। नीर को प्रशिक्षण के लिए ले जाने का काम दादी कमला देवी करती हैं। वह सप्ताह में छह दिन दुर्रई से 40 किलोमीटर दूर अक्षरधाम बस में जाती हैं। सफर के दौरान कई बार वह गिर भी चुकी हैं, लेकिन पोते को अंतरराष्ट्रीय शटलर बनाने का सपना लिए वह प्रतिदिन बैडमिंटन कोर्ट पहुंचती हैं। करीब तीन साल पहले वह नीर को नोएडा स्टेडियम लेकर आती थीं, लेकिन एक साल से अक्षरधाम जा रही हैं। नीर दो बार दिल्ली में खेले गए राष्ट्रीय ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के अंडर-11 के विजेता रह चुके हैं। प्रदेश चैंपियन भी हैं। अंडर-13 में उनकी राष्ट्रीय रैंकिंग 29 है। कमला बताती हैं कि नीर को बस खेलते देखने का सपना है। वह एक दिन जरूर देश का नाम रोशन करेगा।

प्रदेश महिला फुटबॉल टीम में नोएडा की तीन खिलाड़ी

नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता

प्रदेश महिला फुटबॉल टीम में नोएडा की तीन खिलाड़ियों का चयन किया गया है। इसमें विशाखा भंडारी, अंजु प्रिया, और मंजुलिका राज शामिल हैं। सोमवार को प्रदेश टीम की घोषणा की गई। 20 सदस्यीय टीम राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए पंजाब के फगवाड़ा रवाना हुई।

विशाखा, और मंजूलिका राज सिंह नोएडा और अंजू प्रिया ग्रेटर नोएडा की हैं। विशाखा स्ट्राइकर खेलती हैं। जबिक अन्य दोनों खिलाड़ी पर मध्य और रक्षापंक्ति की जिम्मेदारी होगी। तीनों खिलाड़ी इससे पहले भी राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग ले चुकी हैं।

राष्ट्रीय महिला फुटबॉल प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश के सामने सबसे बड़ी चुनौती हरियाणा होगी। प्रदेश का पहला मैच हरियाणा से 18 मई को है। प्रदेश को त्रिपुरा और अरुणाचल प्रदेश के साथ दूसरा और तीसरा मैच खेलना है। 20 सदस्यीय टीम में लक्ष्मी चौधरी, सपना झा, अर्चना कुमारी, सुशीला कुमारी, गुंजन प्रजापति, ब्यूटी केसरी, विशाखा भंडारी, मिनल सिंह, सुजाता पांडेय, पिंकी कुमारी, श्रद्धा सोनकर, सोनाली, कोमल रावत, अंजु प्रिया, प्रतीक्षा सिंह, रेनुका, मंजुलिका, सोनी रत्नाकर, मानसी अरोड़ा और परवीन बानो का चयन किया गया है। टीम के मुख्य प्रशिक्षक मुकेश सबरवाल ने बताया कि पहले मैच में बेहतर प्रदर्शन करने का पूरा प्रयास होगा। ताकि आने वाले मुकाबलों में हम खुलकर खेल सकें। प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।

ABOUT AUTHOR

Rohit is an ardent reader and sports enthusiast who loves to write in his style. Along with his passion for writing, he loves travelling new places and cultures.